Archive | Main Bottam Left

भाजपा के नए गौरव

Posted on 07 April 2024 by admin

कभी भाजपा के चर्चित प्रवक्ता संबित पात्रा से यह सवाल पूछ कर तहलका मचाने वाले कि 5 ट्रिलियन में कितने जीरो होते हैं? अर्थशास्त्र के प्रोफेसर और कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता गौरव वल्लभ अब रंग बदल कर भगवा हो गए हैं वो भी सनातन धर्म का हवाला देते हुए। राजस्थान से ताल्लुक रखने वाले गौरव वल्लभ जमशेदपुर के ’एक्सएलआरआई’ में प्रोफेसर रहे हैं। कांग्रेस के टिकट पर 2019 का विधानसभा चुनाव उन्होंने भाजपा के रघुबर दास के खिलाफ झारखंड के जमशेदपुर से लड़ा था, जहां उन्हें बुरी तरह मुंह की खानी पड़ी थी। इस हार से सीख न लेते हुए 2023 के राजस्थान विधानसभा चुनाव में वे उदयपुर से फिर से कांग्रेस के टिकट पर मैदान में उतर गए और एक बार फिर उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा। पिछले कुछ समय से वे कांग्रेस हाईकमान से अपने लिए राजस्थान से लोकसभा चुनाव का टिकट मांग रहे थे पर जब कांग्रेस नेतृत्व ने उनकी इस मांग को ठुकरा दिया तो वे रंग बदलते हुए भाजपाई हो गए। सूत्र यह भी बताते हैं कि गौरव वल्लभ के इस्तीफा पत्र का ड्राफ्ट भाजपा रणनीतिकारों द्वारा ही तय किया गया था। पत्र की भाषा व भंगिमा इस बात की चुगली खाती थी। 

Comments (0)

क्या करेंगे निरूपम?

Posted on 07 April 2024 by admin

कांग्रेस से बागी हुए संजय निरूपम अपने लिए नई राजनीतिक राह की तलाश में हैं। इस कार्य में उन्हें उनके मित्र मिलिंद देवड़ा की भी भरपूर मदद मिल रही है। सनद रहे कि कुछ दिनों पहले ही देवड़ा भी कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए हैं। भाजपा गठबंधन ने मुंबई की 6 में से 4 सीटों पर अपने उम्मीदवार तय कर दिए हैं पर ’मुंबई नार्थ सेंट्रल’ सीट से अभी किसी उम्मीदवार की घोषणा नहीं की गई है। यहां से भाजपा गठबंधन को एक जिताऊ चेहरे की तलाश है सो, पहले प्रिया दत्त से बात की गई पर उनकी ओर से अभी तक कोई जवाब नहीं मिला। इसी सीट पर कांग्रेस की ओर से स्वरा भास्कर को भी ऑफर गया है। साथ ही राज बब्बर के नाम पर भी विचार हो रहा है। अगर राज यहां से चुनाव नहीं लड़ते तो हरियाणा की गुरूग्राम सीट से अपनी किस्मत आजमा सकते हैं। दिवंगत प्रमोद महाजन की बेटी पूनम महाजन यहां से भाजपा के टिकट पर 2 बार विजयी रही हैं। पर उनके ’एंटी इन्कंबेंसी’ को देखते हुए भाजपा गठबंधन यहां से एक नए चेहरे की तलाश में जुटा है। नाम तो विधायक आशीष शेलार का भी चल रहा है पर चूंकि इस सीट पर चार लाख से ज्यादा मुसलमान वोटर हैं सो संजय निरूपम की दावेदारी यहां से सबसे माकूल मानी जा रही है। क्योंकि वे मुसलमानों में भी खासे लोकप्रिय हैं। सो, मुमकिन है वे शिवसेना शिंदे के टिकट पर यहां से मैदान में उतरें।

Comments (0)

ईरान से क्यों परेशां है हिन्दुस्तान

Posted on 07 April 2024 by admin

इसी 15 जनवरी को भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर अपनी दो दिवसीय ईरान यात्रा पर तेहरान पहुंचे थे, जहां उनकी मुलाकात ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और वहां के विदेश मंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहयान से हुई। बातचीत का मसला चाबहार पोर्ट पर ही केंद्रित था जिसे भारत को नया रूप रंग देना था। ईरान के राष्ट्रपति इस प्रोजेक्ट में हो रही देरी से नाखुश बताए जाते हैं, उन्होंने दो टूक लहजे में जयशंकर से पूछा कि ’आप इस प्रोजेक्ट की डेडलाइन बताइए?’ सनद रहे कि ईरान के तटीय शहर चाबहार के विकास के लिए भारत व ईरान के बीच आज से दो दशक पहले 2003 में सहमति बनी थी, 2016 में इस समझौते को मंजूरी मिली थी। यह बंदरगाह अंतरराष्ट्रीय व्यापार के लिए इंटरनेशनल नार्थ-साउथ कोरिडोर के तौर पर काफी अहम है। पर इस बार भारत में आयोजित हुए जी-20 सम्मेलन में नए ट्रेड रूट बनाने पर सहमति बनी है जिससे भारत के लिए चाबहार आईएनएसटीसी और आईएमईसी में निवेश करना उतना आसान नहीं रह जाएगा। इससे पूर्व कुछ ऐसा ही श्रीलंका के हब्बन टोटा बंदरगाह को लेकर भी हुआ था, पहले भारत को ही इस पोर्ट को विकसित करना था, उस वक्त महिंद्रा राजपक्षे श्रीलंका के राष्ट्रपति थे और उनके भाई वहां के विदेश मंत्री। तब ये दोनों भाई एक चीनी डेलीगेट्स के संपर्क में आए और चीन ने हब्बनटोटा में दिलचस्पी दिखाई और भारत के हाथ से यह प्रोजेक्ट चला गया था जो पोर्ट रणनैतिक रूप से हमारे देश के लिए बेहद महत्वपूर्ण था, क्या अब चाबहार भी उसी रास्ते चल निकला है? क्या इस प्रोजेक्ट पर भी चीन की नज़र है?

Comments (0)

भाजपा ज्वॉइन कर सकते हैं कई दिग्गज कांग्रेसी

Posted on 07 April 2024 by admin

जैसे-जैसे लोकसभा चुनावों की घड़ी पास आ रही है, नेताओं के पाला बदलने का मौसम भी शुरू हो गया है। भाजपा शीर्ष से जुड़े एक विश्वस्त सूत्र के दावे पर अगर यकीन किया जाए तो भगवा पार्टी की ओर से कांग्रेस के कम से कम 15 बड़े नेताओं की एक लिस्ट पीएम मोदी को सौंपी गई है, जो नेतागण भाजपा में प्रवेश के लिए भगवा द्वार पर दस्तक दे रहे हैं। यह अब पूरी तरह पीएम मोदी पर निर्भर करता है कि इनमें से किन नेताओं को वह अपनी पार्टी में लेना चाहते हैं। सूत्रों का दावा है कि इस लिस्ट में आनंद शर्मा, मनीष तिवारी, शशि थरूर, कार्ति चिदंबरम जैसे नेताओं के नाम शामिल हैं। कर्नाटक में भी जगदीश शेट्टार की भाजपा में घर वापसी के बाद बेल्लारी के चर्चित जर्नादन रेड्डी के भी भाजपा में वापिस आने के चर्चे गर्म हैं। 

Comments (0)

हरियाणा के सांसद भी लड़ेंगे विधायकी चुनाव

Posted on 07 April 2024 by admin

हालिया दिनों में भाजपा ने मध्य प्रदेश व राजस्थान में अपना एक अभिनव प्रयोग किया था जिसमें पार्टी ने अपने कई मौजूदा सांसदों को विधायकी के चुनाव लड़वा दिए थे, जो हारे सो किनारे, जो जीते उनमें से कई मंत्री व स्पीकर भी बना दिए गए। पार्टी अब यही प्रयोग हरियाणा में भी दुहराना चाहती है। भाजपा को लगता है कि इस छोटे से राज्य में उन्हें मोदी व श्री राम के नाम पर अपने सांसदों को जिताने में कोई परेशानी नहीं आ रही पर विधानसभा चुनाव में मुकाबला कड़ा है, सो, भाजपा के लिए यहां विधानसभा की एक-एक सीट महत्वपूर्ण हो गई है। जैसे भिवानी महेंद्रगढ़ की लोकसभा सीट पर केद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव को चुनाव लड़वाने का फैसला हो सकता है, जहां से मौजूदा सांसद धर्मवीर सिंह हैं, इसके अलावा फरीदाबाद के सांसद कृष्णपाल गुर्जर, रोहतक के अरविन्द शर्मा व सोनीपत के सांसद रमेश चंद्र कौशिक से भी विधानसभा चुनाव लड़ने को कहा जा सकता है। पर धर्मवीर सिंह समेत कई मौजूदा सांसद विधानसभा का चुनाव लड़ने से मना कर रहे हैं, इनका कहना है कि ’हमने राजस्थान-मध्य प्रदेश में अपने साथी सांसदों का हश्र पहले ही देख लिया है।’

Comments (0)

महुआ का क्या होगा?

Posted on 27 November 2023 by admin

महुआ मोइत्रा और निशिकांत दुबे के बीच जब से तलवारें तनी हैं और ’कैश फॉर क्वेरी’ का मामला सुर्खियां बटोर रहा है, लंबी चुप्पी के बाद इस बार ममता बनर्जी सामने आई हैं और वह भी महुआ के बचाव में। इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि दीदी महुआ से इस बात को लेकर नाराज़ हैं कि इस तृणमूल सांसद ने दिल्ली में पार्टी के बजाए खुद को आगे बढ़ाया है। पर दीदी की सरकार ने आनन-फानन में पश्चिम बंगाल में ताजपुर पोर्ट को विकसित करने के लिए अडानी ग्रुप को दिए गए 25 हजार करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट को रद्द कर इसका नया टेंडर जारी करने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही महुआ को भी नदिया जिले में पार्टी संगठन को मजबूत करने की महती जिम्मेदारी मिली है। पिछले दिनों जब महुआ कोलकाता में थीं तो अभिषेक बनर्जी ने उन्हें मिलने के लिए अपने घर बुलाया, महुआ फूल-मिठाई व केक लेकर अभिषेक के घर पहुंची और नदिया जिले की जिम्मेदारी दिए जाने के लिए उनका आभार जताया। अभिषेक ने इस बातचीत में महुआ से साफ-साफ कहा-’पार्टी एक परिवार की तरह होती है और परिवार में हर सदस्य की भूमिकाएं बदलती रहती हैं, सो सदस्य को पार्टी जो भी जिम्मेदारी दे उसे सहर्ष स्वीकार कर इसे एक चुनौती की तरह लेना चाहिए।’ इशारों ही इशारों में अभिषेक ने महुआ को बता दिया कि ’कोई जरूरी नहीं कि उन्हें हर बार लोकसभा का चुनाव ही लड़वाया जाए, उन्हें पार्टी संगठन की सेवा में भी भेजा जा सकता है’, समझदार के लिए इशारा काफी है।

Comments Off on महुआ का क्या होगा?

निशाने पर नरेंद्र

Posted on 27 November 2023 by admin

मध्य प्रदेश भाजपा में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। ग्वालियर चंबल संभाग से भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के पुत्र देवेंद्र प्रताप सिंह तोमर का एक वीडियो खासा वायरल हो गया। जिसमें करोड़ों के लेन-देन की बात हो रही है। यह वीडियो तब का बताया जा रहा है जब नरेंद्र तोमर केंद्र में खनन मंत्री थे। देवेंद्र तोमर ने इस वीडियो के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज करवाई है कि इस वीडियो में कांट-छांट हुई है, पर उन्होंने अपनी शिकायत में यह नहीं कहा है कि यह वीडियो फेक है। इस वीडियो की वजह से तोमर घिर गए हैं, पर सरकार ने इस वीडियो की जांच न तो ईडी या सीबीआई को सौंपी है, कहा यह भी जा रहा है कि इस वीडियो को वायरल करवाने में प्रदेश के ही कुछ भाजपा नेताओं के हाथ हैं।

Comments Off on निशाने पर नरेंद्र

काक के बिना

Posted on 27 November 2023 by admin

अशोक गहलोत इस दफे के चुनाव में ज्यादा अपने मन की कर रहे हैं। पूर्व मंत्री बीना काक की टिकट के मसले पर वे हाईकमान से भिड़ गए हैं। यहां तक कि बीना काक के मुद्दे पर वह राहुल गांधी की राय की भी अनदेखी कर रहे हैं। दरअसल, बीना 2013 का चुनाव हार गई थीं, सो उन्हें 2018 के चुनाव में टिकट ही नहीं दिया गया। तो वह नाराज़ होकर सार्वजनिक रूप से गांधी परिवार पर ही बरस पड़ीं, गांधी परिवार खास कर राहुल गांधी इस बात को भूले नहीं हैं। पर गहलोत राजस्थान में अपने किस्म की राजनीति करना चाहते हैं।

Comments Off on काक के बिना

बिधूड़ी की बदजुबानी से आहत भाजपा

Posted on 15 October 2023 by admin

लोकसभा में इस गुरूवार की रात चंद्रयान-3 की सफलता की चर्चा के दौरान भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी अपने साथी सांसद बसपा के कुंवर दानिश अली से उखड़ गए और उन्हें निशाने पर लेकर अंटशंट बकने लगे और उनके समुदाय को लेकर भी कुछ अप्रिय टिप्पणियां कर दीं, इस बात से भाजपा के अपने मुस्लिम नेता भी उखड़े हुए हैं। भाजपा के एक पुराने मुस्लिम नेता स्वीकार करते हैं कि ’हमारी मजबूरी है कि हम जाएं कहां, कांग्रेस जैसे दल भी अब हिंदुओं को खुश करने की राजनीति कर रहे हैं।’ इसी माहौल को हवा देने के लिए उज्जैन के एक संत डॉ. अवधेशपुरी महाराज ने संघ प्रमुख मोहन भागवत को पत्र लिख कर उनसे मांग की है कि ’अगर भाजपा सचमुच सनातन को बढ़ावा देना चाहती है तो 5 प्रतिशत सीटों से संतों को मैदान में उतारें ताकि वे चुनाव जीत कर संसद में पहुंच कर सनातन के पक्ष में अलख जगा सकें।

Comments Off on बिधूड़ी की बदजुबानी से आहत भाजपा

पुतिन क्यों नहीं आ रहे भारत?

Posted on 15 October 2023 by admin

सूत्रों की मानें तो भारत में आयोजित होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका, आस्ट्रेलिया, कनाडा, इटली, दक्षिण कोरिया जैसे प्रमुख देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने भारत आने के लिए हामी भर दी है। पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का भारत आना संदेह के घेरे में है, अब कहा जा रहा है कि वे ‘हाइब्रिड मोड’ से यानी कि ऑनलाइन इस शिखर सम्मेलन से जुड़ेंगे। पुतिन की जगह रूस के विदेश मंत्री इस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए भारत आएंगे। हालांकि पुतिन को भारत आने में कोई खतरा नहीं था, क्योंकि भारत ने इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट की उस संधि पर हस्ताक्षर नहीं किए थे जिसके तहत पुतिन गिरफ्तार किए जा सकते थे। जबकि कोरोना के बाद आयोजित होने वाले इस जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए किसी हाइब्रिड मोड का विकल्प नहीं रखा गया था, राष्ट्राध्यक्षों को इस बैठक में ‘इनपर्सन’ ही शामिल होना था, पर लगता है पुतिन के लिए नियमों में ढील दी जा रही है। वैसे भी यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की को इस बैठक में आने का न्यौता ही नहीं भेजा गया, जिसके बाद कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने जेलेंस्की से बात कर इस पर दुख जताया है। 

Comments Off on पुतिन क्यों नहीं आ रहे भारत?

Download
GossipGuru App
Now!!