सुषमा स्वराज हो सकती हैं देश की अगली राष्ट्रपति

June 19 2017


सब कुछ अगर यूं ही योजनाबद्द तरीके से आगे बढ़ा तो केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस दफे रायसिना हिल्स पर काबिज हो सकती हैं। एक ओर वह प्रधानमंत्री मोदी की निजी पसंद बताई जाती हैं, तो संघ भी उनके नाम की पुरकश वकालत करता नजर आ रहा है, संघ में नंबर दो की हैसियत रखने वाले भैय्या जी जोशी पिछले काफी समय से सुषमा का नाम आगे बढ़ाते रहे हैं। विश्वस्त सूत्र खुलासा करते हैं कि इस शुक्रवार को जब वेंकैया नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की तो राष्ट्रपति पद के एक सर्वमान्य उम्मीदवार के तौर पर सुषमा का नाम उभर कर सामने आया। हालांकि आधिकारिक तौर पर कांग्रेस इस बारे में कुछ भी बोलने से बच रही है, पर दस जनपथ से जुड़े विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि वेंकैया जितने नामों की फेहरिस्त लेकर गए थे, उनमें बस सुषमा के नाम पर ही सोनिया को किंचित कोई आपत्ति नहीं थी। हालांकि भाजपा के अंदर रायसिना हिल्स पर नज़र गड़ाए रखने वाले नेताओं व नेत्रियों की एक लंबी फौज है। इस सूची में भाजपा के बिसरा दिए गए भीष्म पितामह लाल कृष्ण अडवानी के अलावा मुरली मनोहर जोशी, वेंकैया नायडू, राजनाथ सिंह, सुमित्रा महाजन, अरुण जेटली जैसे नेतागण भी शुमार हैं। इसके अलावा भाजपा के ही कुछ सीनियर नेता मेट्रोमैन ई.श्रीधरन का नाम भी चला रहे हैं। नाम तो गवर्नर विद्यासागर राव और द्रौपदी मुर्मू के भी चल रहे हैं। शिवसेना ने तो संघ प्रमुख मोहन भागवत और एम एस स्वामीनाथन के नाम का भी शिगूफा उछाला, पर मौजूदा वक्त में सुषमा इस रेस में सबसे आगे दिखाई दे रही हैं। सूत्र बताते हैं कि राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को लेकर प्रधानमंत्री, अमित शाह और राम माधव के बीच एक लंबी मुलाकात चली, इस बैठक में भी सुषमा स्वराज के नाम पर चर्चा हुई और यह माना गया कि सुषमा की न केवल एक निर्विवाद छवि है अपितु अन्य दलों में भी उनकी स्वीकार्यता सबसे ज्यादा है। शायद यही वजह है कि राष्ट्रपति पद की दौड़ में फिलवक्त सुषमा सबसे आगे दिखाई दे रही हैं।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!