जल ही कल है

July 12 2020


प्रधानमंत्री मोदी ने 15 अगस्त 2019 साढ़े 3 लाख करोड़ रूपयों की लागत से हर घर में 55 लीटर स्वच्छ जल उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा था। स्वच्छ जल से उनका आशय ऐसे पानी से था जो इतना शुद्ध हो कि नल से निकाल कर उसे सीधे पीया जा सके। सरकार का दावा है कि एक साल के अंदर एक करोड़ घरों तक इस स्वच्छ जल को पहुंचा दिया गया है। इस योजना में हर शहर, गांव, बस्ती जहां भी पानी की टंकी लगी है वहां एक सेंसर लगवाया गया है, जो हर वक्त पानी की गुणवत्ता की जांच करेगा और 4जी के माध्यम से यह नेशनल ग्रिड से जुड़ा होगा, जिससे कि वेबसाइट पर रीयल टाइम डाटा दिखाया जा सकेगा, जिसे कोई भी व्यक्ति कभी भी देख सकता है कि उसके एरिया में पानी की गुणवत्ता क्या है? इस योजना को पूर्ण करने के लिए अब भी 12 करोड़ घरों का लक्ष्य बचा है, कोरोना संक्रमण के चलते यह योजना फिलहाल लटक गई है, अब सरकार को भी लगने लगा है कि निर्धारित वक्त तक इस योजना को पूर्ण कर पाना आसान नहीं होगा।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!