रोहतगी की फाइल पीएमओ में अटकी

June 07 2014


भाजपा के बेहद करीबी रहे मुकुल रोहतगी के अगले अटार्नी जनरल नियुक्त होने की फाइल कुछ कारणों से पीएमओ में अटक गई थी, यह फाइल पिछले महीने की 27 तारीख से वहीं अटकी पड़ी है। सनद रहे कि रोहतगी बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले, 2002 के गुजरात दंगों के अलावा बाबा रामदेव और वरुण गांधी के भी वकील रहे हैं। रोहतगी मोदी सरकार के सबसे ताकतवर मंत्री अरुण जेतली के नजदीकियों में भी शुमार होते हैं और उनकी मित्रता केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद से भी जग जाहिर है। वैसे भी मोदी व जेतली की जोड़ी अटल-अडवानी की जोड़ी की मानिंद काम कर रही है, और कानूनी मसलों सहित कई मामलों में मोदी ने जेतली को फ्री-हेंड दे रखा है। मुकुल रोहतगी अनिल अंबानी के करीबियों में भी शुमार होते हैं, हो सकता है यह बात बड़े अंबानी को रास नहीं आ रही होगी, इसके अलावा रंजीत कुमार का नाम सॉलिसीटर जनरल और संजय ज़ैन का नाम एडिशनल सालिसीटर जनरल के तौर पर चल रहा है, सूत्र बताते हैं कि इस बाबत भाजपा की एक प्रमुख नेता सुषमा स्वराज का विरोध भी सामने आया है, सुषमा का कहना है कि रोहतगी, रंजीत व संजय सभी एक ही लॉ-फर्म से ताल्लुक रखते हैं, सो, एक साथ इन तीनों की इतने प्रमुख पदों पर नियुक्ति न्याय संगत नहीं होगा, सो अब यह मामला पेंचोंखम में फंसता ही जा रहा है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!