जगन के अगन में पीके का नशा उतरा

May 21 2018


सियासी हवाओं के रुख भांपने में सिद्दहस्त प्रशांत किशोर भले ही इन दिनों आंध्र के युवा नेता जगन मोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस के लिए काम कर रहे हों, पर उनके बाजार भाव में किंचित बड़ी गिरावट दर्ज बताई जाती है। पीके ने बड़े गाजे-बाजे व शोर-शराबे के साथ जगन का काम देखना शुरू किया था। सूत्र बताते हैं कि काम शुरू करते ही विजयवाड़ा और तिरूपति में पीके ने आनन-फानन में अपना ऑफिस भी खोल दिया और अपने लोगों को काम में लगा दिया। सूत्रों की मानें तो अपने काम के पहले चरण में पीके ने आंध्र की विधानसभा सीटों का एक व्यापक सर्वेक्षण करवाया और एक पूरी लिस्ट तैयार कर जगन के पास पहुंचे कि किस सीट से किस व्यक्ति को टिकट देने से चुनाव में पार्टी की संभावनाएं सबसे बेहतर रहेगी। और साथ ही एक लंबा-चौड़ा बिल भी जगन को ठोक दिया। कहते हैं पीके की इस अदा पर जगन चिढ़ गए बोले टिकट के लिए व्यक्ति तय करना आपका काम नहीं, आप सिर्फ जमीनी सर्वे कर चुनावी मुद्दों की पड़ताल करें, रणनीति बनाएं, बाकी काम हमारे पार्टी संगठन पर छोड़ दें। कहते हैं जगन व पीके के बीच काम को लेकर एक साल तक का समझौता हुआ है जिसके लिए पीके ने तीन डिजिट में अपना बजट दिया था, जगन इस बजट को एक डिजिट में समेट देना चाहते हैं, पीके को अपने साथ यह धोखा लग रहा है। सूत्रों का कहना है कि पीके के साथ काम कर लोगों को दो महीने से वेतन नहीं मिला है और जगन हैं कि फंड ही रिलीज नहीं कर रहे हैं, पीके इतना तो समझ ही चुके हैं कि उनके पूर्ववर्ती बॉस मोदी, नीतीश, राहुल, अखिलेश की तरह देने के मामले में जगन इतने दरियादिल नहीं, वे तो बस काम के बदले पैसा देना चाहते हैं।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!