प्रफुल्ल की भूल

October 06 2010


प्रफुल्ल पटेल अमरीकी शहर शिकागो के एयरपोर्ट पर धर लिए गए, वह भी भूल वश और उनसे घंटों कड़ी-पूछताछ हुई, बाद में भारतीय दूतावास के हस्तक्षेप के बाद ही उन्हें छोड़ा गया। दरअसल, लंदन में रहने वाला एक और अप्रवासी भारतीय प्रफुल्ल पटेल होने के शक पर उन्हें धर लिया गया था, वह प्रफुल्ल पटेल सत्ता का एक बड़ा सौदागर है और इत्तफाक से दोनों पटेलों की जन्मतिथि भी एक है। अब जाकर खुलासा हुआ है कि अपने मंत्री महोदय पटेल दरअसल डिप्लोमेटिक पासपोर्ट रखते ही नहीं, उसकी जगह वे नीले रंग वाले आम भारतीय पासपोर्ट पर सफर करते हैं, अगर डिप्लोमेटिक लाल पासपोर्ट होता तो शायद पटेल साहब की इस कदर धर पकड़ नहीं होती। यहां तक कि पटेल न तो अपने साथ सरकारी सुरक्षा रखते हैं और न ही कभी भारत के किसी शहर में लालबत्ती वाली गाड़ी में ही सफर करते हैं। यानी पटेल साहब देश-विदेश की अपनी हर यात्रा को प्राइवेट रखना चाहते हैं और गुप्त भी, मगर क्यों? भई मंत्री से पहले वे एक बड़े व्यापारी हैं, सो मामला बिजनेस के लेनदेन का भी हो सकता है, आकर्षक-स्मार्ट तो हैं ही, सो बात आगे भी बढ़ सकती है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!