नासाज हैं शाहनवाज

April 16 2010


पेशे से वकील अरुण जेतली सियासत के उम्दा डॉक्टर भी हैं, अब मियां शाहनवाज का मामला ही लीजिए न, जब गडकरी की नई टीम की रूप-रेखा तैयार हुई तो शाहनवाज का नाम महासचिवों की सूची में था, पर वो तो ऐन वक्त विजय गोयल ने अध्यक्ष जी को जाने क्या गोली दी कि एकदम से आखिरी वक्त पर शाहनवाज का नाम काट कर उसकी जगह टीम गडकरी में गोयल को ले लिया गया। नाराज शाहनवाज रूठ कर नई दिल्ली के बत्रा अस्पताल मेंर् भत्ती हो गए, यूं बोलने की चाहे उन्हें कितनी भी आदत हो पर महज पार्टी प्रवक्ता बनाए जाने से वे खुश नहीं थे। ऐसे में जेतली ने अस्पताल प्रशासन से मिलकर शाहनवाज की पूरी मेडिकल रिपोर्ट मंगा ली, जाहिर है उसमें किसी बीमारी का जिक्र ही नहीं था, सो जेतली ने शाहनवाज को फोन किया-’मियां नाराजगी छोड़िए और जो भी मिला है उसे ले लीजिए…वरना पार्टी में इन दिनों किसी बात का भरोसा नहीं…’ सो लौट के शाहनवाज प्रवक्ता के नए अवतार में नजर आए।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!