उतरेगा संघ का रंग

July 21 2010


कुछ अर्से पहले इसी कॉलम में जब सर्व प्रथम यह सत्य उद्धाटित हुआ कि केंद्र में सत्तारूढ़ एक प्रमुख दल के इशारे पर संघ के कुछ प्रमुख नेताओं पर न सिर्फ नजर रखी जा रही है, अपितु थोकभाव में संघ-नेताओं के फोन टेप किए जा रहे हैं तो सियासत के चंद रंगे सियारों ने और प्रायोजित मीडिया के चंद लंबरदारों ने आसमान सिर पर उठा लिया था, पर अब इस खबर की सच्चाई से परदा उठने का वक्त आ पहुंचा है। सीबीआई के करीबी सूत्रों से मिली जानकारियों के मुताबिक कथित हिंदू आतंकवाद के नवजात लहजे पर शिकंजा कसने के लिए तमाम सरकारी एजेंसियों ने कमर कस ली है, सबसे पहले संघ व उसके अनुषांगिक संगठनों से जुड़े दर्जनों नेताओं पर नजर रखी गई, उनके फोन टेप किए गए और उससे मिली जानकारियों के आधार पर कोई 4 दर्जन हिंदूवादी नेताओं से पूछताछ हुई, दरअसल सीबीआई संघ नेताओं के उस बयान के बाद ही सक्रिय हो गई थी जब इस्लामी आतंकवाद को आड़े हाथों लेते हुए इन्होंने कहा था-’हम चुप नहीं बैठेंगे, हर बात की प्रतिक्रिया होती है।’ सुनील जोशी, जिनकी हाल में ही हत्या हो गई उस पर नजर रख सीबीआई ने कई अहम सुराग इकट्ठे किए, उसके बाद ही सीबीआई संघ के एक प्रमुख नेता इंद्रेश कुमार तक जा पहुंची। संघ के एक अन्य प्रमुख शीर्ष नेता सीबीआई के निशाने पर हैं। देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्वयं इस पूरे मामले पर अपनी पैनी नजर रख रहे हैं, यानी आने वाले दिनों में इकट्ठे 35-40 हिंदूवादी नेताओं को गिरफ्तार किया जा सकता है, सीबीआई उन पर देश के अलग-अलग अदालतों में मुकदमे डालेगी ताकि समवेत विरोध के स्वर को दबोचा जा सके।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!