Archive | Featured

क्या हेमा की जगह कंगना?

Posted on 27 November 2023 by admin

भाजपा की 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए उम्मीदवारों की सूची को अंतिम रूप दिए जाने का कार्य जारी है। मथुरा संसदीय सीट की सांसद हेमा मालिनी पिछले दिनों 75 वर्ष की हो गई हैं और भाजपा की नीति है 75 पार के लोगों को सक्रिय राजनीति से रिटायर कर मार्गदर्शक मंडल में शामिल करने की, सो कयास लग रहे हैं कि इस बार मथुरा से हेमा मालिनी का टिकट कट सकता है। भाजपा से जुड़े सूत्रों की मानें तो 2024 के चुनाव में कंगना रनौत मथुरा से हेमा की जगह ले सकती हैं। भले ही कंगना ने अबतलक भाजपा ज्वॉइन न की हो पर वह हिंदुत्व के मुद्दे पर प्रखर रही हैं, संघ के लाइन को आगे रखती हैं और पीएम मोदी की अनन्य प्रशंसकों में से हैं। पिछले दिनों कंगना का वह बयान भी सुर्खियों की सवारी गांठता रहा, जब उन्होंने कहा कि-’भगवान श्रीकृष्ण की कृपा रही तो वह चुनाव जरूर लड़ेंगी।’ कुछ दिनों पहले वह योगी आदित्यनाथ व उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी को अपनी हालिया फिल्म ’तेजस’ दिखातीं नज़र आई थीं। भाजपा में उनके तेज के सब पहले से ही कायल हैं। 

Comments Off on क्या हेमा की जगह कंगना?

मध्य प्रदेश में हाई वोल्टेज ड्रामा

Posted on 07 October 2023 by admin

मध्य प्रदेश का चुनावी महासमर इस दफे ‘आंसू’ और ‘इमोशंस’ के हाई वोल्टेज ड्रामा से तरंगित है। शिवराज इस दफे अपने राजनैतिक कैरियर की सबसे मुश्किल लड़ाई लड़ रहे हैं, घर व बाहर दोनों ही फ्रंट पर। वे जानते हैं कि इस दफे के चुनाव में महिला और आदिवासियों के वोट निर्णायक रहने वाले हैं। सो, शिवराज जब भी महिला वोटरों को संबोधित कर रहे होते हैं तो वे अतिशय भावुक हो जाते हैं, वे महिला वोटरों से आंखों में आंसू भर कर कहते हैं-’आप सबको ऐसा भैया नहीं मिलेगा, बताओ तो आपके भैया से ऐसी क्या गलती हुई जो आपने बिसरा दिया…।’ कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार कमलनाथ अब भैया की जितनी एक्टिंग तो नहीं कर सकते, फिर भी वे अपनी ओर से भरपूर कोशिश कर रहे हैं, कमलनाथ भावुक होने का स्वांग भरते हुए सभाओं में कह रहे हैं कि ’मैं पूछना चाहता हूं जनता से कि कौन सा पाप मैंने किया है, चाहो तो आप कमलनाथ का साथ मत दो, कांग्रेस का साथ भी मत दो, पर सत्य का साथ तो दो।’ यशोधरा राजे सिंधिया भले ही इस दफे का विधानसभा चुनाव नहीं लड़ रही हैं, पर वो शिवपुरी के इलाके में थोकभाव में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए भावुक हुई जा रही हैं और अपनी स्वर्गीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया को याद कर भावुक हो रही हैं और मां के नाम पर एक तरह से भाजपा के पक्ष में वोट देने की अपील कर रही हैं।

Comments Off on मध्य प्रदेश में हाई वोल्टेज ड्रामा

योगी के खटराग अलग

Posted on 16 September 2023 by admin

महाराष्ट्र में भी निरंतर जातीय जनगणना की मांग उठ रही है, वहीं केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि यह राज्य सरकार की मर्जी है कि वह जातीय जनगणना कराना चाहती है कि नहीं। महाराष्ट्र में भी भाजपा नीत सरकार है। जबकि देश के सबसे बड़े सूबे यूपी में भाजपा की डबल इंजन की सरकार है। वहां के सीएम योगी ने डंके की चोट पर कहा है कि वे किसी भी कीमत पर जाति आधारित जनगणना नहीं कराएंगे। जबकि केंद्र नीत मोदी सरकार के मन में कहीं न कहीं है कि ’यूपी में कम से कम कास्ट सेंसस होना ही चाहिए।’ योगी आदित्यनाथ इन दिनों राजपूतों के सबसे बड़े नेताओं में शुमार होते हैं, उन्होंने अपने शौर्य बल से इस रेस में राजनाथ सिंह को भी काफी पीछे धकेल दिया है, योगी अपने पूर्ववर्ती गुरू महंत अवैद्यनाथ की जगह नाथ संप्रदाय के सबसे बड़े महंत हैं और उन्हें संघ का पूरा समर्थन भी हासिल है।

Comments Off on योगी के खटराग अलग

ब्राह्मणवाद के खिलाफ अलख

Posted on 16 September 2023 by admin

लगता है विपक्षी खेमे ने भी बहुत सोच विचार कर सनातन की डिबेट को हवा दी है, शायद इसीलिए स्टालिन पुत्र उदयनिधि इस मुद्दे पर इतनी उछल कूद मचा रहे हैं, सो वे सुविचारित रूप से सनातन को कभी डेंगू, कभी मलेरिया या कभी कोरोना बुलाते हैं। सनानत धर्म का मुद्दा अब विपक्षी गठबंधन इंडिया के लिए भी एक एसिड टेस्ट हो गया है। दक्षिण से अलग उत्तर भारत में विपक्ष के लिए सनातन का अर्थ वर्णवाद से जुड़ा है। वैसे भी दक्षिण भारत में ब्राह्मणवाद के विरोध का फायदा हमेशा से विपक्षी दल उठाते रहे हैं, कारण ओबीसी व दलित जैसी जातियां हमेशा से ब्राह्मणों से त्रस्त रही है। ओबीसी व दलित जातियों को मद्देनज़र रखते ही भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने अपने नेताओं व वक्ताओं से कहा है कि ’वे बिलावजह सनातन डिबेट में न उलझें।’ वहीं जी-20 समिट में मेहमानों को जहां शुद्ध शाकाहारी भोजन परोसा जाता है, तो वहीं राहुल गांधी का लालू यादव के साथ वह वीडियो वायरल हो जाता है जिसमें वे खास चंपारण मीट पकाते नज़र आते हैं। यह विपक्षी गठबंधन इंडिया की एक सुविचारित रणनीति हो सकती है। शायद यही वजह है कि एक ओर जहां भाजपा राम मंदिर की बात करती है तो सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य और आरजेडी नेता व बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर रामचरित मानस के विरोध में अलख जगाते हैं, चंद्रशेखर तुर्रा उछालते हैं कि ’रामचरित मानस में तो पोटेशियम साइनाइट है।’ पिछले दो लोकसभा चुनावों यानी 2014 व 2019 में ओबीसी वोटरों ने भाजपा का साथ दिया था, इंडिया गठबंधन इसी गणित को पलटने में जुटा है।

Comments Off on ब्राह्मणवाद के खिलाफ अलख

(Hindi) जब योगी को मोदी का बुलावा आया

Posted on 09 September 2023 by admin

Sorry, this entry is only available in Hindi.

Comments Off on (Hindi) जब योगी को मोदी का बुलावा आया

(Hindi) क्या होगा संसद के विशेष सत्र में

Posted on 09 September 2023 by admin

Sorry, this entry is only available in Hindi.

Comments Off on (Hindi) क्या होगा संसद के विशेष सत्र में

(Hindi) संसद के विशेष सत्र का छुपा एजेंडा क्या है?

Posted on 09 September 2023 by admin

Sorry, this entry is only available in Hindi.

Comments Off on (Hindi) संसद के विशेष सत्र का छुपा एजेंडा क्या है?

(Hindi) कयास ये भी हैं

Posted on 09 September 2023 by admin

Sorry, this entry is only available in Hindi.

Comments Off on (Hindi) कयास ये भी हैं

(Hindi) चाचा-भतीजा में कौन है सवा सेर?

Posted on 11 July 2023 by admin

Sorry, this entry is only available in Hindi.

Comments Off on (Hindi) चाचा-भतीजा में कौन है सवा सेर?

Ahmed Patel’s daughter Mumtaz will enter active politics

Posted on 11 July 2023 by admin

Mumtaz Patel, daughter of the late Ahmed Patel, who was once the pivot of Congress politics and one of the party’s Chanakya, has stepped up her pace to enter active Congress politics. Mumtaz along with her father’s former aide Yatindra Sharma met Rahul Gandhi, Mallikarjun Kharge and Venugopal on the same day an important meeting was going on at the Congress headquarters in Delhi regarding Chhattisgarh. Kanishk Singh and Mukul Wasnik are said to have played an important role in getting this meeting fixed. Ahmed Patel’s once very trusted people wanted Mumtaz to get a place in the Congress Working Committee, the top decision-making body of the party. It is also being heard that Kharge proposed to Mumtaz to take over the reins of Mahila Congress, but Mumtaz has refused for it. Mumtaz wants to contest the next Lok Sabha election from her father’s Bharuch seat. This seat was continuously held by the Congress from 1952 to 1977. In 1977, when the anti-Congress wave was going on in the country, Ahmed Patel was fielded by the Congress and then Patel won the election and after winning, he supported Indira Gandhi. Then Ahmed Patel won the elections of 1980 and 1985 from Bharuch to make it a triumvirate of victories and in 1989 he was elected to the Rajya Sabha, and thereafter continued to remain in the Rajya Sabha, but his relationship with Bharuch was never broken. He continued to represent Bharuch, while Bharuch is a seat dominated by Rajputs. Rahul Gandhi has set a target of giving 50 per cent space to the youth under 50 in the Congress organization, that is why Mumtaz also feels that she is going to get something big in the Congress organization.

Comments Off on Ahmed Patel’s daughter Mumtaz will enter active politics

Download
GossipGuru App
Now!!