चंडीगढ़-पंजाब में आप-कांग्रेस की धाक

June 11 2024


बेवफा तेरे आने का हर तरफ इतना शोर क्यों है

तूने एक चेहरे पर लगा रखे हैं हजार चेहरे पर तू मेरी ओर क्यों है’

जम्हूरियत के सबसे बड़े महापर्व की समापन बेला आ पहुंची है। लोकतंत्र के तोरणद्वार से जनादेश की धीमी-धीमी आहटें भी सुनाई देने लगी हैं, कोई अब भी सड़क पर है तो कोई विवेकानंद शिला पर नई सियासी भंमिगाएं गढ़ने में व्यस्त हैं। इस 1 जून को पंजाब की 13 और चंडीगढ़ केंद्र शासित सीट पर मतदान संपन्न हुआ। मजे की बात तो यह कि पंजाब में भाजपा ने 13 सीटों पर जो अपने प्रत्याशी उतारे इनमें से 11, अन्य पार्टियों से आयातित थे। इस दफे चूंकि शिरोमणि अकाली दल भी भाजपा से अलग होकर चुनाव लड़ रहा था तो उसकी कोई खास  वक्त देखी नहीं गई। अकाली पूरी तरह इन चुनावों में दरकिनार होते दिखे सो, उन्होंने ’ऑपरेशन ब्लू स्टार’ का पुराना राग अलापना शुरू कर दिया। 1 जून को ही ’ऑपरेशन ब्लू स्टार’ की चालीसवीं बरसी थी। सो, इस मौके को भुनाने के लिए अकालियों ने पंजाब के गुरूद्वारों के बाहर पोस्टर लगा दिए, ताकि राज्य में कांग्रेस की संभावनाओं को कम किया जा सके। रही बात चंडीगढ़ की तो यहां शुरूआत में कांग्रेसी दिग्गज मनीष तिवारी कमजोर पिच पर खेलते नज़र आए, पर 20 मई के बाद धीरे-धीरे उन्होंने अपने पक्ष में माहौल बना लिया। उन्होंने चंडीगढ़ के ’गर्वनेंस मॉडल’ को परिभाषित करने के लिए अपना एक विजन डॉक्यूमेंट ’सिटी स्टेट मॉडल’ भी रिलीज किया जो खासा चर्चा में रहा। मनीष को चंडीगढ़ के ग्रामीण इलाकों में आप-कैडर का भरपूर साथ मिला। आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल भी उनके पक्ष में चुनावी अलख जगाने के लिए चंडीगढ़ पधारे। आईं तो प्रियंका गांधी भी, जब वो राजीव शुक्ला के साथ हेलिकॉप्टर से चंडीगढ़ उतरीं तो हेलीपैड पर उनकी निगाहें किसी और को ढूंढ रही थीं वे थे कांग्रेस के सीनियर नेता पवन बंसल। प्रियंका को जैसे ही मनीष ने रिसीव करते हुए फूलों का गुलदस्ता भेंट किया तो प्रियंका ने एक झटके में मनीष से पूछ लिया, ’पवन बंसल जी नहीं आए?’ तो मनीष ने किंचित भावुक होते हुए कहा-’मैंने उनसे रिक्वेस्ट की थी, उनसे फोन पर भी रोजाना बात हो जाती है, पर चुनाव में वे मेरे साथ नहीं आए।’ इस पर प्रियंका ने अपने सचिव से बंसल को फोन लगाने को कहा, जैसे ही बंसल लाइन पर आए प्रियंका ने छूटते ही उनसे कहा, ’मैं एक जनसभा को संबोधित करने जा रही हूं, आप भी मंच पर उपस्थित रहिएगा।’ यह सुनने भर कि देर थी कि बंसल भागे-भागे सभा स्थल पर जा पहुंचे और मंच पर अवतरित हो गए। इस घटना के बाद ही बंसल चंडीगढ़ के अलावा हिमाचल प्रदेश में भी सक्रिय दिखे। 

 
Feedback
 
Feedback
Name (required)
Email(required)
Comment
 
   
Download
GossipGuru App
Now!!