येदुरप्पा पर क्यों अनुकंपा?

December 01 2010


कर्नाटक में अपनी कुर्सी बचाने में सफल होते ही येदुरप्पा ने सबसे पहले अपने बेटे-बेटी व दामाद को मुख्यमंत्री आवास से बाहर का रास्ता दिखाया, फिर वे अपने पूर्ववर्ती मुख्यमंत्रियों की कार्यकाल की फाइलों को खंगालने में जुट गए कि उनके कार्यकाल में कितने डिनोटिफिकेशन जारी हुए थे, इस पर नंबर वन पर रहे एस.एम.कृष्णा जिनके अकेले मुख्यमंत्रित्व काल में 600 डिनोटिफिकेशन हुए थे। इसके बाद जी.एच.पटेल, गुंडुराव, देवेगौड़ा, बंगरप्पा और कुमारस्वामी का नंबर आता है। पर इन तमाम जांच पड़ताल में येदुरप्पा को एक भी ऐसा मामला नहीं मिला है जिसमें डिनोटिफिकेशन मुख्यमंत्री परिवार के किसी सदस्य के नाम पर हुआ हो। अपनी कुर्सी बचाए रखने की एक बड़ी कीमत अदा कर रहे हैं येदुरप्पा और वे भाजपा के चंद केंद्रीय नेताओं और संघ को हर माह एक भारी चढ़ावा चढ़ा रहे हैं।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!