सोरेन-भाजपा में पक रही है खिचड़ी?

April 21 2021


बदलते वक्त की तासीर को भांपते झारखंड के मुख्यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा सुप्रीमो हेमंत सोरेन ने भाजपा से नजदीकियां बढ़ानी शुरू कर दी है। उन्हें लगातार इस बात का डर सता रहा है कि भाजपा जब चाहे झारखंड में खेल बदल सकती है, क्योंकि उनकी सरकार में शामिल कांग्रेस के 10 विधायक यकीनन भाजपा के संपर्क में हैं। वे कभी भी पाला बदल कर भगवा रंग में रंग सकते हैं। यही वजह है कि हेमंत जब पिछली बार दिल्ली आए तो वे राहुल गांधी से भी मिले और अमित शाह से भी। पिछले दिनों जब वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हेमंत केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से जुड़े तो गडकरी ने हेमंत और झारखंड के लिए अपना दिल खोल कर रख दिया। गडकरी ने सोरेन से कहा कि ’अगर वे जमीन अधिग्रहण तथा वन व पर्यावरण मंत्रालय की मंजूरी कराएं और उन्हें
अच्छे अधिकारी दें तो वे झारखंड की सड़कों को तीन वर्षों में पचिश्मी यूरोप और अमेरिका की तरह बना देंगे।’ गडकरी ने यह भी कहा कि ’केंद्र सरकार राज्य के सड़क निर्माण विभाग को पांच हजार करोड़ रूपए देने को तैयार है।’ गडकरी की इस मेहरबानी में दूरगामी संकेतों की रवानी छुपी है, जो कहीं न कहीं इस बात का ऐलान है कि अगर हेमंत सोरेन भाजपा की शरण में आ जाते हैं तो वे मुख्यमंत्री बने रह सकते हैं। यही खेल भाजपा महाराष्ट्र और राजस्थान जैसे गैर भाजपाई राज्यों में खेलने को भी बेकरार बताई जाती है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!