चार दिन में 11 बिल

December 21 2014


मोदी सरकार के संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के समक्ष लोकसभा की तुलना में राज्यसभा में चुनौतियां कहीं ज्यादा बड़ी हैं, क्योंकि ऊपरी सदन में कांग्रेस का नंबर कहीं ज्यादा है। कांग्रेसी दिग्गजों समेत अन्य पार्टियों के दिग्गज नेताओं मसलन शरद यादव, लालू यादव, मायावती, सीताराम येचुरी आदि का यहां जमावड़ा जुटा रहता है। चुनांचे ऐसी सूरत में राज्यसभा को चला पाना सत्ता पक्ष के लिए टेढ़ी खीर ही है। विरोधी दल जहां हर छोटे बड़े मसले पर सीधे संसद में प्रधानमंत्री का बयान या स्पष्टीकरण चाहते हैं, तो भाजपा व नकवी के समक्ष सबसे महती चुनौती नरेंद्र मोदी की मजबूत नेता की इमेज को खर्च होने से बचाने की रहती है। सो, ऊपरी सदन में नकवी विपक्षी दलों के नेताओं से अपने अच्छे संबंधों का हवाला देते हुए सदन को सुचारू रूप से चलाने की जद्दोजहद करते दिखे, अगर काम-काज की दृष्टि से देखें तो राज्यसभा लगातार विपक्षी हंगामे की भेंट चढ़ती रही। कुल मिलाकर महज चार दिन ही काम-काज के रहे, पर चतुर सुजान नकवी 11 महत्त्वपूर्ण बिल इस सदन से पास कराने में कामयाब रहे।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!