कैसे बचे कर्नाटक सरकार

October 19 2010


सियासी आईसीयू में भर्ती और अपने अस्तित्व को बचाने की अंतिम सांसे गिन रही कर्नाटक की येदुरप्पा सरकार को बचाने में भाजपा के शीर्ष हाईकमान ने अपनी सारी ताकत झोंक दी। भाजपा के मुखिया नितिन गडकरी ने ऐन आखिरी वक्त सरकार को बचाने की जिम्मेदारी वहां के चर्चित खनन सरताज व सरकार में मंत्री रेड्डी बंधुओं को सौंप दी, एक तरह से यह कांटे से कांटा निकालने का ही उपक्रम है। सर्वप्रथम, गडकरी ने येदुरप्पा को उनके हालिया मंत्रिमंडल फेरबदल के लिए झाड़ पिलाई, सनद रहे कि सरकार पर संकट इसके बाद से ही गहराने लगा था। यानी अपनी खासमखास शोभा की मंत्रिमंडल में वापसी और चार असंतुष्टों की रूखसती येदुरप्पा को भारी पड़ गई। जिन रेड्डी बंधुओं को नीचा दिखाने के लिए येदुरप्पा ने सारा उपक्रम साधा था, उनका यह दांव उल्टा पड़ गया और अंतत: सरकार बचाने के लिए उन्हीं रेड्डियों के आगे उन्हें घुटने टेकने पड़े। सरकार पर से संकट को टालने के लिए गडकरी स्वयं पल-पल की जानकरी के लिए जनार्दन रेड्डी से हॉटलाइन पर जुड़े हैं जो लगातार असंतुष्टों के संपर्क में हैं और चेन्नै से गोवा के चक्कर काट रहे हैं। वहीं येदुरप्पा भगवान की शरण में चले गए और विभिन्न मंदिरों की परिक्रमा लगा रहे हैं।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!