राम-राम करते आखिर क्यों रामलाल को जाना पड़ा

July 29 2019


2016 से ही रामलाल को वापिस संघ में भेजे जाने की चर्चा थी, 2017 में बकायदा रामलाल ने मोदी और शाह को पत्र लिख कर अपनी उम्र का हवाला देकर पद मुक्त करने का अनुरोध किया था, इसके बावजूद तब उन्हें उनके पद से नहीं हटाया गया। 2006 से लगातार वे भाजपा के संगठन महासचिव बने रहे। पर अब अचानक ऐसी क्या बात हो गई जो उनकी रूखसती पर मुहर लग गई। संघ से जुड़े विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि पिछले दिनों रामलाल की भतीजी ने एक मुस्लिम युवक से प्रेम विवाह रचा लिया, कहते हैं इसकी खुशी में स्वयं रामलाल ने दो जगह रिसेप्शन पार्टी दी। यह बात भाजपा व संघ को बेहद नागवार गुजरी। उन पर यह भी आरोप लगते रहे कि भाजपा में रहते हुए उन्होंने काफी धन-संपत्तियां भी अर्जित की। मेरठ के एक छोटे से घर से अपनी यात्रा शुरू करने वाले रामलाल को पूरी उम्मीद थी कि जब उनकी संघ में पुनर्वापसी होगी तो उन्हें किसी महत्वपूर्ण पद से नवाजा जाएगा। पर उन्हें इस बार अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख बनाया गया, उनकी तमाम उत्कंठाएं ’पुनः मूषक भवः’ होने को बाध्य हो गई।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!