शिवसेना ने भाजपा से पंगा क्यों लिया?

December 06 2019


शिवसेना भाजपा के साथ 50-50 के फार्मूले पर अड़ गई थी। कहते हैं जब महाराष्ट्र में सीटों का बंटवारा हो रहा था तो अमित शाह के समक्ष उद्धव ने शर्त रखी थी और कथित तौर पर शाह 50-50 के फार्मूले पर मान गए थे। भाजपा रणनीतिकारों का भरोसा था कि शिवसेना ज्यादातर सीटें हार जाएगी और यह 50-50 का फार्मूला तब आई गई बात हो जाएगी। पर जब महाराष्ट्र के चुनावी नतीजे आए तो शिवसेना को उम्मीद से ज्यादा सीटें आ गईं। तब से ही शिवसेना ने 50-50 का राग अलापना शुरू कर दिया और अपनी मांगों में यह भी जोड़ दिया कि बतौर मुख्यमंत्री उन्हें देवेंद्र फड़णवीस मंजूर नहीं। वहीं शिवसेना के सांसद भी दबी जुबान में कहने लगे कि भाजपा उनके साथ गठबंधन साथी वाला व्यवहार नहीं करती, बिहार में जदयू के साथ उसका आचरण कुछ और है और महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ कुछ और। अगर शिवसेना के नेताओं को भाजपा शीर्ष से मिलना भी है तो उन्हें लंबा इंतजार करना पड़ता है। यहीं से रिश्ते बिगड़ते गए, भाजपा भी शिवसेना को हल्के में लेती रही और पानी सिर से ऊपर से गुजरता गया।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!