यह उन्नीस क्या है?

July 29 2019


तृणमूल के ही एक सांसद अपना नाम न छापने की शर्त पर खुलासा करते हैं कि भले ही 2019 का चुनाव गुजर गया हो पर अब भी ’सारदा चिटफंड’ घोटाले का भूत जिंदा है। सो, तृणमूल सांसदों को भी फूंक-फूंक कर कदम रखने होते हैं और बहुत जरूरी होने पर ही वे सदन का बहिष्कार कर सकते हैं। सिर्फ तृणमूल ही क्यों जगन की वाईएसआर कांग्रेस का भी यही हाल है। जब भी तृणमूल वाले जगन के सांसदों को विरोध के स्वर तेज करने के लिए खड़े होने को कहते हैं, उनकी बेंच से तपाक से जवाब आता है-’नाइनटीन’ यानी (19), और वे शांत होकर बैठ जाते हैं, सनद रहे कि जगन के खिलाफ अभी 19 मामले चल रहे हैं।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!