क्या किसानों की अनदेखी ले डूबेगी बीजेपी को?

December 10 2018


आखिर ऐसा क्या हुआ कि पिछले 15 वर्षों से लगातार बेधड़क-बेरोक टोक भाग रहे भाजपा के अश्वमेध को जनता से चुनौतियां मिलने लगी है। जो पत्रकार मित्र चुनाव कवर कर दिल्ली लौटे हैं उनका अनुमान था कि भाजपा को सबसे बड़ी मार ग्रामीण भारत में पड़ने वाली है। इसके कारणों का भी उन्होंने खुलासा किया कि मध्य प्रदेश का किसान अपनी सरकार से इस कदर नाराज़ है कि वह अपना अनाज मंडी में ही नहीं ले जा रहा, उन्हें भोपाल में नए निजाम के आने का इंतजार है। जो सरकार उनकी फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीद सके, उनकी फसल की सीधी खरीद का उन्हें चुनावी भरोसा मिला था। किसानों का कहना है कि शिवराज सरकार ने भले ही अपने राज्य में उनके लिए भावांतर योजना चलाई हो, जिस योजना में इस बात का दावा हुआ था कि किसानों की फसल बिक्री और एमएसपी के बीच का अंतर राज्य सरकार भरेगी और इस रकम को सरकार सीधे किसानों के अकाऊंट में ट्रांसफर कर देगी। स्कीम सुनने में तो अच्छी थी, पर यह सिरे नहीं चढ़ पाई, किसान राज्य सरकार का मुंह तकते रहे और उनके जमा खातों में चवन्नी भी नहीं आई। इस बात को लेकर किसानों का गुस्सा इन चुनावों में फूट पड़ा।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!