सीतारमण का गुरूस्मरण

July 14 2019


केंद्रीय वित्त मंत्री सीतारमण को भगवा सियासत में स्वयंसिद्दा बनाने का श्रेय अरूण जेटली को जाता है। सो, जिस रोज वित्त मंत्री अपना कार्यभार ग्रहण करने वित्त मंत्रालय के अपने कमरे में पधारी, उन्होंने श्रद्धापूर्वक अपने राजनैतिक गुरू जेटली की कुर्सी को नमन किया और वहां पास लगे एक सोफा पर बैठ गईं। जेटली के एक मुंहलगे अधिकारी ने उनसे वित्त मंत्री की कुर्सी पर बैठने का आग्रह किया, तब कहीं जाकर वे अपने गुरू की कुर्सी पर विराजमान होने का साहस जुटा पाईं। पर जब उन्होंने बतौर वित्त मंत्री संसद में अपना पहला बजट भाषण किया तो उसमें कहीं एक बार भी जेटली का जिक्र नहीं था। सिर्फ वित्त मंत्री ही क्यों यूनियन बजट पर चर्चा में कोई 40 सांसदों ने हिस्सा लिया, इसमें सत्ताधारी दल भाजपा के भी कई नेता शामिल थे, पर इनमें से बस एक शिरोमणि अकाली दल के नेता नरेश गुजराल ने अपने भाषण में अपने प्रिय मित्र अरूण जेटली का स्मरण करते हुए कहा वे इस मौके पर एनडीए प्रथम कार्यकाल में 5 वर्षों तक वित्त मंत्रालय का जिम्मा संभालने वाले जेटली को याद करना चाहेंगे जिन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का काम किया। अपने न सही, सहयोगी दलों के लिए जेटली की प्रासंगिकता आज भी बनी हुई है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!