उदित का सूर्य ऐसा हुआ अस्त

April 29 2019


भले ही दलित नेता उदित राज ने भगवा पार्टी से नाराज़ होकर अब कांग्रेस का दामन थाम लिया हो पर उनके सियासी सूर्य को भगवा ग्रहण लग ही गया है क्योंकि उन्हें ऐसे वक्त भाजपा ने झटका दिया है कि चुनावी संभावनाएं बहुत हद तक क्षीण हो गई है। स्वयं उदित राज का दावा है कि उन्होंने कम से कम 3 बार मोदी को फोन किया पर वे लाइन पर नहीं आए, हालांकि उनसे जरूर कहा गया कि वे रामलाल से मिल लें। कहते हैं जब उदित रामलाल से मिलने पहुंचे तो उनसे कहा गया कि टिकट वितरण के लिए केवल और केवल राष्ट्रीय अध्यक्ष जी यानी अमित शाह अधिकृत हैं। सूत्रों की मानें तो इसके बाद उदित ने अमित शाह को फोन लगाना शुरू किया, उनके घर की परिक्रमा लगानी शुरू की पर न शाह मिले और न ही उनका फोन। तो हैरान-परेशान इस भाजपा सांसद ने नितिन गडकरी को फोन लगा दिया, अपनी बेबाकी के लिए मशहूर गडकरी ने उन्हें दो टूक बता दिया कि इस दफे उन्हें टिकट नहीं मिल रही। वहीं दूसरी ओर दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ऐन वक्त तक उदित को आश्वस्त करते रहे कि उनका टिकट पक्का है। अंत में थक-हार कर उदित राज अरूण जेटली की शरण में पहुंचे तो राजनीति के चतुर सुजान जेटली ने उन्हें बता दिया कि उनका टिकट राजनीतिक नहीं, नीतिगत रूप से काटा जा रहा है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!