मीसा-तेज प्रताप एक हुए?

November 12 2018


लालू परिवार के रूठे कृष्ण तेज प्रताप इधर-उधर की खाक छान रहे हैं, कभी दिल्ली तो कभी मथुरा-वृदांवन की परिक्रमा कर रहे हैं। रिम्स अस्पताल में भर्त्ती उनके पिता लालू और उनकी मां राबड़ी देवी उन्हें समझाने की भरसक चेष्टा कर रहे हैं कि वे अपनी पत्नी ऐश्वर्या के साथ सुलह-सफाई कर लें, पर तेज प्रताप इसके लिए फिलवक्त तैयार नहीं बताए जाते। बहन मीसा ने भी तेज के समक्ष एक राजनैतिक प्रस्ताव रखा है कि मीसा 2019 का लोकसभा चुनाव पाटलिपुत्र से लड़ लेंगी और उनके द्वारा रिक्त की गई राज्यसभा सीट पर तेज प्रताप आ सकते हैं। बहन का कहना है कि वह और तेज दिल्ली की राजनीति करेंगे और पटना तेजस्वी के लिए छोड़ दें। यह समीकरण भी कमोबेश वैसा ही बन रहा है जैसे तमिलनाडु की द्रविड़ राजनीति में जब तूफान आया तो भाई स्टालिन के खिलाफ बहन कनिमोझि और अलागिरी एक हो गए थे। फिर भी राजनैतिक विरासत की लड़ाई में स्टालिन ने ही बाजी मार ली, क्योंकि वे अपने भाई-बहन से ज्यादा राजनैतिक हैं। लगता है बिहार में भी यही इतिहास दुहराने की तैयारी है पर यहां किसी को यह नहीं भूलना चाहिए कि तेजस्वी भी अपनी बहन मीसा या भाई तेज प्रताप से कहीं ज्यादा राजनैतिक समझ और ताल्लुकात रखते हैं। मीसा पर वैसे ही आय से अधिक संपत्ति के कई मामले चल रहे हैं।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!