भारतीय तीर्थ यात्रियों से पाक का सर्विस टैक्स

September 08 2019


इन दिनों पाकिस्तान में सिख समुदाय पर अत्याचार की खबरें मीडिया में सुर्खियां बन रही है। सिख युवतियों के जबरन धर्म परिवर्तन कर उसे मुसलमान बनाने का मसला भी ऊफान पर है, ऐसे में भारत-पाक के बीच करतारपुर कॉरिडोर की बैठक बेहद अहम मानी जा रही है। सूत्रों की मानें तो अगले कुछ रोज में दोनों देशों के बीच इस बाबत बैठक हो सकती है। इससे पूर्व 14 जुलाई को लाहौर के वाधा में ऐसी ही एक बैठक संपन्न हुई थी। जहां दोनों देशों के बीच कई मुद्दों पर परस्पर सहमति नहीं बन पाई। इसी को लेकर बीते 4 सितंबर को दोनों देशों के आला अधिकारियों के बीच एक बैठक इसी 4 सितंबर को भारत के अटारी में हुई। अब माना जा रहा है कि अगले कुछ रोज में इस बाबत वाधा में फिर से एक निर्णायक बैठक हो सकती है। सनद रहे कि करतारपुर कॉरिडोर डेरा बाबा नानक गुरूद्वारा गुरदासपुर से दरबार साहिब करतारपुर नारोवल, पाकिस्तान तक बनने की बात है। दरबार साहिब करतारपुर वह पवित्र जगह है जहां सिखों के पहले गुरू गुरूनानक देव साहब ने अपनी देह त्यागी थी। सूत्र बताते हैं कि पाकिस्तान लगातार सर्विस फीस वसूलने की मांग पर अड़ा हुआ है, वह प्रति भारतीय तीर्थ यात्री से 20 डॉलर की सर्विस फीस वसूलना चाहता है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!