संसद में भी पत्रकारों पर शिकंजा

July 14 2019


’दो बांग्ला’ फिल्म अभिनेत्रियों नुसरत जहां और मिमि चक्रवर्ती जब पहली बार संसद भवन पहुंची तो उन्हें कैप्चर करने की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और स्टिल फोटोग्राफरों के बीच एक होड़ सी मच गई। इतने टीवी चैनल के कैमरे थे कि अफरा-तफरी का माहौल बन गया, सूत्रों की मानें तो इतनी आपाधापी में इन बंगाली अभिनेत्रियों के साथ थोड़ी धक्का-मुक्की हो गई। कहते हैं इस बात की शिकायत लोकसभा स्पीकर से की गई, हालांकि बाद में मिमि ने ट्वीट कर यह सफाई भी पेश कर दी कि उन्होंने स्पीकर से इस बाबत कोई शिकायत नहीं की है। कहते हैं इस पर स्पीकर की ओर से त्वरित कार्यवाही करने के आदेश हुए। और आनन-फानन में लोकसभा सचिवालय ने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और स्टिल फोटोग्राफरों के लिए एक सर्कुलर तैयार किया, जिसमें वर्णित था कि पत्रकारों को बाइट या तस्वीर लेने के लिए खड़ा कहां होना है, उनके ट्रॉइपोर्ड और कैमरों की लक्ष्मण रेखा क्या होगी आदि-आदि। अभी यह सर्कुलर जारी हो पाता इससे पहले ही यह मीडिया में लीक हो गया, फिर पत्रकारों ने खूब हाय-तौबा मचाई तो उन्हें समझाया गया कि इस सर्कुलर में कुछ भी नया नहीं है, मीडिया के लिए तो यह आचार संहिताएं 10-15 साल पुरानी है। पर अब तक मीडिया वाले समझ चुके थे कि वक्त बदल चुका है, सत्ता के दस्तूर भी, अब उन्हें इस सच्चाई को स्वीकार कर लेना होगा।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!