भारतीयों के पैसे अब साऊथ कोरियन बैंकों में

July 14 2019


जब से भारत और स्विटजरलैंड की यह संधि परवान चढ़ने लगी है वह अपने देश के बैंकों के भारतीय खाता धारकों की जानकारी भारत सरकार के साथ शेयर करेगा, तब से स्विस बैंकों से धराधर भारतीय उद्योगपति व नेतागण अपने स्विस अकाऊंट बंद कर एक सुरक्षित पनाहगार की तलाश में जुट गए हैं। सूत्र बताते हैं कि दक्षिण कोरिया के रूप में उन्होंने अपना एक नया पनाहगार ढूंढ लिया है। सो, पिछले एक-डेढ़ वर्षों में पैसे वाले भारतीयों की साऊथ कोरिया में आवाजाही में यकबयक भारी उछाल आया है। बैंक ऑफ इंटरनेशनल स्टैंडर्ड (बीआईएस) के एक आंकड़े के मुताबिक भारतीयों के साऊथ कोरिया के बैंकों में डिपोजिट में 900 फीसदी का उछाल देखने को मिला है। 2018 से पहले तक कोरियन बैंकों में भारतीयों के मात्र 1 मिलियन डॉलर जमा थे और 2018 के अंत तक यह रकम 904 मिलियन डॉलर तक जा पहुंची है। साऊथ कोरियन बैंक अब अपने ग्राहकों को वर्चुअल करेंसी अकाऊंट्स जैसे क्रिप्टो मनी भी ऑफर कर रहे हैं। भारतीय जांच एजेंसियों के लिए यह प्रवृत्ति एक नया सिर दर्द बन कर उभरी है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!