मोदी की आंधी, पत्रकारों की चांदी

June 18 2018


मोदी का सोशल और डिजिटल मीडिया का निशाना अचूक है, विपक्ष को साधने व नाथने में मोदी के वॉर रूम का कोई सानी नहीं। जो लोग मोदी के 2014 के चुनाव अभियान से जुड़े थे और वॉर रूम में सक्रिय थे, इसमें से कई लोग बकायदा अब भी काम में जुटे हैं। कई पुराने लोगों को बुला लिया गया है, पिछले कुछ महीनों में सोशल मीडिया हेंडिल करने के लिए कई नई टीमों का भी गठन हुआ है, ये वॉर रूम अलग-अलग दफ्तरों से चल रहे हैं। कई प्रबुद्द पत्रकारों को लुभाया जा रहा है और उन्हें मेहनताने के तौर पर मोटी रकम का प्रलोभन दिया जा रहा है, तीन लाख रुपए महीने तक का ऑफर है और वह भी कैश। इन पत्रकारों को बस विपक्षी हमलों की काट ढूंढनी है, उठ रहे नानादि प्रकार के सवालों के जवाब तलाशने हैं, विपक्ष की धार को कुंद करना है, नई रणनीतियां बुननी है और आंकड़ों को दमदार तरीके से पेश करना है, ताकि ब्रांड मोदी की चमक 19 में भी पहले की तरह बरकरार रहे।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!