बोलने वाले मौन हैं

January 18 2019


आर्थिक आधार पर अगड़ी जातियों को 10 फीसदी आरक्षण जैसे महत्त्वपूर्ण विधेयक को सदन में थावर चंद गहलोत ने पेश किया और संविधान के 124वें संशोधन का यह बिल लोकसभा में एक दिन में ही पास हो गया। पर तमाम राजनैतिक दलों के दिग्गज खिलाड़ी इस बात पर हैरत में थे कि इतने महत्त्वपूर्ण विधेयक पर सदन में प्रधानमंत्री नहीं बोले। बोले कौन? अरूण जेटली बोले, अमित शाह बोले। भाजपा से जुड़े सूत्र खुलासा करते हैं कि इस विधेयक को लेकर भी मोदी का द्वंद्व यह था कि कहीं इसका हश्र भी नोटबंदी जैसे बड़े फैसले सा न हो जाए, सो प्रधानमंत्री ने सदन में बोलने के बजाए ट्वीट करके अपने उद्गार व्यक्त कर दिए थे।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!