नीतीश की पार्टी में बवाल के आसार

August 17 2019


नीतीश कुमार की जदयू में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है, यहां भी पार्टी नेतृत्व के खिलाफ असंतोष के स्वर उभरने लगे हैं। ताजा मामला धारा 370 को लेकर है, नीतीश के बेहद करीबियों में शुमार होने वाले उनके राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह 370 को लेकर पहले नीतीश के स्टैंड के साथ थे और वे भी धारा 370 को हटाए जाने का विरोध कर रहे थे। पर पिछले कुछ दिनों से उन्होंने अपनी भाषा बदल ली है अब वे धारा 370 हटने का समर्थन कर रहे हैं। जब कि नीतीश के अन्य राज्यसभा सांसद केसी त्यागी और लोकसभा सांसद ललन सिंह धारा 370 हटाए जाने के विरोध में अलख जगा रहे हैं। आरसीपी के इस बदले-बदले रुख के पीछे प्रशांत किशोर फैक्टर बताया जा रहा है। जैसा कि सबको मालूम है पीके और आरसीपी में हमेशा छत्तीस का आंकड़ा रहा है। पीके के पीएम मोदी से अब भी अच्छे रिश्ते बताए जाते हैं। इन दिनों आरसीपी और पीके के आपसी रिश्तों में एक बड़ा बदलाव देखा जा सकता है, इनके रिश्ते किंचित मधुर हुए हैं। सूत्रों की मानें तो पीके ने ही पीएम से आरसीपी की बात करवाई, जिससे धारा 370 पर आरसीपी का स्टैंड बदल गया। कहते हैं राज्यसभा सांसदों को मैनेज करने का जिम्मा शाह ने पहले से ही पीयूष गोयल और भूपेंद्र यादव के सुपुर्द कर रखा था, ये दोनों भी कहीं पहले से इस कार्य में जुटे हैं। जदयू के सांसद और राज्यसभा के उप सभापित हरिवंश की नजदीकियां भाजपा के संग छुपी नहीं रह गई है, सो नीतीश ने एक तरह से तय कर रखा है कि इस बार वे हरिवंश को दुबारा राज्यसभा में नहीं भेजेंगे। आरसीपी को लेकर भी नीतीश ने शायद अपना मन बदला है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!