हार कर जीत गए हरिवंश

August 13 2018


’इबादत की शौक में जहां तेरे कदम बढ़ चले हैं,
कभी वहां मेरा खुदा रहता था…’
दिलचस्प तो यह कि राज्यसभा के डिप्टी स्पीकर के चुनाव के दो रोज पहले तक प्रभात खबर अखबार के संपादक रहे हरिवंश को इस बात का किंचित भी इल्म न था कि उनके नाम पर इतना बड़ा सियासी घमासान मचने वाला है। नहीं तो कम से कम वे पब्लिक अकाऊंट कमेटी (पीएसी) के मेंबर का चुनाव नहीं लड़ते जहां उनके मुकाबले चुनाव लड़ रहे भाजपा के भूपेंद्र यादव को 69, तेलुगू देशम पार्टी के सीएम रमेश को 110 और उन्हें मात्र 26 वोटों पर ही संतोष करना पड़ा था। ऐसे में सीएम रमेश और भूपेंद्र यादव चुन लिए गए और हरिवंश को खारिज होने का दंश झेलना पड़ा। सवाल यही तो सबसे अहम है कि जिस शख्स को डिप्टी स्पीकर बनना था, उसके लिए पीएसी मेंबर का चुनाव लड़ने की क्या मजबूरी थी… तुम्हें पता कहां था कि तेरा खुदा अब तेरे साथ-साथ रहने लगा है।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!