संघ के सेफ्टीवाल्व गडकरी

January 29 2019


नितिन गडकरी संभवतः एकमात्र ऐसे भाजपा नेता हैं जिनकी विपक्षी दलों में भी काफी स्वीकार्यता है, विपक्षी दलों में उनके मित्रों की भी एक लंबी फेहरिस्त है। लिहाजा मोदी सरकार जब-जब विपक्षी दलों के निशाने पर आती है, गडकरी उसके तारणहार बन कर अवतरित होते हैं। संघ को भी मोदी सरकार से जो कहना होता है या कोई सिग्नल भेजना होता है तो यहां भी गडकरी की ही सेवाएं ली जाती है। इस बात के कयास अपनी उफान पर है कि इस दफे अगर भाजपा अपनी सीटें गंवाती है और बहुमत के जादुई आंकड़े से कहीं दूर रह जाती है तो ऐसे में नितिन गडकरी एनडीए की ओर से एक सर्वमान्य चेहरा बनकर उभर सकते हैं। इस लीग में एक और नाम राजनाथ सिंह का भी सामने आ रहा है। पर गडकरी और उनके शुभचिंतकों को इस बात का कहीं न कहीं बखूबी इल्म है कि गडकरी का नाम सामने आते ही मोदी व शाह की जोड़ी राजनाथ के नाम को आगे कर सकती है। सो, सूत्र बताते हैं कि ऐसे में गडकरी ने संघ को यह संकेत दिए हैं कि वे पीएम के बजाए भाजपा की कमान संभालने के ज्यादा इच्छुक हैं। पर मोदी व शाह की पहली पसंद अध्यक्ष के तौर पर जेपी नड्डा हैं, संघ नड्डा के नाम पर नहीं माना तो यह जोड़ी सुमित्रा महाजन का नाम आगे कर सकती है, वैसे भी इस दफे सुमित्रा ताई की इंदौर सीट से कैलाश विजयवर्गीय चुनाव लड़ने के लिए हाथ पैर मार रहे हैं।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!