चुनाव आ गया है

January 18 2019


चुनावी आहटों की बैचेन करवटों को नए स्वर देने में केंद्र रूढ़ सत्ता रूढ़ भाजपा का भी कोई सानी नहीं। समाज के हर वर्ग को लुभाने के लिए उसके पिटारे में कुछ नए शिगूफे हैं, कुछ हैरतअंगेज फलसफे। अगड़ी जातियों को लुभाने के लिए आर्थिक आधार पर आरक्षण का जिन्न बोतल से बाहर आ चुका है। अब मोदी सरकार के निशाने पर युवा, किसान और महिला वोटर हैं। युवा बेरोजगारों को रेवड़ियां बांटने के लिए ’यूनिवर्सल बेसिक इंकम’ के पिटारे को खोलने की तैयारी हो चुकी है। किसानों के लिए ’डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम’ को नए सिरे से रंग रोगन किया जा चुका है। इस स्कीम के तहत रबी और खरीफ फसल के समय सरकारी सहायता राशि सीधे किसानों के बैंक खाते में जमा हो जाएगी। जिस पैसे से वह खाद-बीज खरीद सकेगा। सनद रहे कि लगभग यही योजना तेलांगना में भी चल रही है जिसमें साल में 2 दफे चार हजार रूपयों की धन राशि सीधे वहां के किसानों के बैंक खाते में जमा हो जाते हैं। और फसल के नुकसान होने पर फसल बीमा योजना तो पहले से है ही। महिला वोटरों को खुश करने के लिए मोदी सरकार इस बजट सत्र में महिला बिल लाने की तैयारी में है। बजट सत्र में ही आय कर का स्लैब बदलने की भी योजना है। व्यापारियों को खुश करने के लिए जीएसटी में हालिया दिनों में कई बदलाव किए जा चुके हैं, जो आने वाले अप्रैल माह से प्रभावी हो जाएगा।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!