शह-मात की बिसात

September 14 2009


संघ प्रमुख का शुक्रवार को अटल बिहारी वाजपेयी से मिलना सिर्फ उनका खैरमकदम पूछना भर नहीं था अपितु भाजपा में बचे-खुंचे अटल वफादारों को यह संदेश भी देनाा था कि पार्टी में अब अडवानी युग के अवसान गीत गाने का समय आ गया है। सो, संघ ने फिर से अडवानी पर हल्ला बोल दिया है और उनसे कहा है कि पहले वे अपना नेता प्रतिपक्ष पद छोड़ें तब ही भाजपा को नया अध्यक्ष मिलेगा। और अडवानी ने अब भी लगातार यही हठ लगा रखी है कि पहले भाजपा को नया अध्यक्ष मिले तब ही वे अपना पद छोड़ेंगे। अडवानी-संघ की इस आपसी खींचतान से राजनाथ की बल्ले-बल्ले है, यानी जब तक भाजपा को नया अध्यक्ष नहीं मिलता है उनका कार्यकाल तो बस आगे खिंचता जाएगा…शायद तीन-चार महीने और…।

 
Feedback
 
Download
GossipGuru App
Now!!